Home » अपराध / आचार » संतकबीरनगर:- पुलिस थाने से चन्द कदमो पर चल रहा है जुए का अड्डा,पढ़ने की उम्र में नाबालिक बच्चे हो रहे जुए का शिकार, प्रतिदिन 4 से 5 घंटे में होता है लाखों का वारा न्यारा _शैलेश सिंह राजन की रिपोर्ट

संतकबीरनगर:- पुलिस थाने से चन्द कदमो पर चल रहा है जुए का अड्डा,पढ़ने की उम्र में नाबालिक बच्चे हो रहे जुए का शिकार, प्रतिदिन 4 से 5 घंटे में होता है लाखों का वारा न्यारा _शैलेश सिंह राजन की रिपोर्ट

संतकबीरनगर:- मेहदावल कस्बे में डाकखाने के पीछे नेपाल की तर्ज पर हो रहा जुआ,बड़े तो बड़े बच्चे भी खेल...

👤 Ajay2017-03-01 14:49:43.0
संतकबीरनगर:- पुलिस थाने से चन्द कदमो पर चल रहा है जुए का अड्डा,पढ़ने की उम्र में नाबालिक बच्चे हो रहे जुए का शिकार, प्रतिदिन 4 से 5 घंटे में होता है लाखों का वारा न्यारा _शैलेश सिंह राजन की रिपोर्ट
Share Post




संतकबीरनगर:- मेहदावल कस्बे में डाकखाने के पीछे नेपाल की तर्ज पर हो रहा जुआ,बड़े तो बड़े बच्चे भी खेल रहे जुआ,सूत्रों की माने तो प्रतिदिन होता है लाखों का वारा न्यारा,इस जुआ में एक बड़े प्लास्टिक चार्ट पर दस अलग अलग निशान बने होते हैं,प्रत्येक निशान पर खिलाड़ी पैसा लगाता है उसके बाद जुए के आयोजक के पास एक चार्ट पेपर होता है वह उस पर स्क्रैच करता है,स्क्रैच करने पर जो निशान दिखाई देता है आयोजक उस निशान को प्लास्टिक चार्ट पर बने निशान से मेल करता है,जिस खिलाड़ी का उस मेल किये गये निशान पर पैसा लगा होता है आयोजक उसे उसके लगाये गये पैसे का नौ गुना ज्यादा पैसा देता है,बाकी बचे निशानों पर जो पैसा खिलाड़ियों का लगा होता है आयोजक उसे स्वयं रखता है ! जानकारों की माने तो इस खेल में कहैं न कहीं पुलिस का संरक्षण मिला हुआ है जिसके चलते खुलेआम ये गोरखधंधा कुटीर उद्योग के रूप में फल फूल रहा है !